Rich Dad Poor Dad pdf Hindi

Rich Dad Poor Dad pdf Hindi: इस पोस्ट में हम Popular Book Rich Dad Poor Dad in Hindi की पूरी जानकारी देने वाले हैं.

अगर आप जानना चाहते हैं की किस तरह से पैसा कम करता है और हम ज्यादा पैसे कैसे कमा सकते है तो आप बने रहिये हमारे साथ.

Rich Dad Poor Dad pdf Hindi

पैसा कमाने का जरिया हम सब लोगों को पता है और उन पैसों को कैसे खर्च करना है ये भी पता है मगर हम में से काफी लोगों को ये नहीं पता है की पैसे कैसे काम करता है.

इसी तरह से पैसा के बारे में लोगों के अलग-अलग तरह के विचार क्या हैं वो क्या सोंचते हैं पैसों के बारे में.

Rich Dad Poor Dad Book पैसा बनाने को लेकर काफी पोपुलर है, आज हम इस के बारे में जानेंगे इसके साथ ही Rich Dad Poor Dad pdf Hindi डाउनलोड के सोर्स को भी बताएँगे.

Rich Dad Poor Dad pdf Hindi

इस बुक के नाम से बिलकुल भी ऐसा नहीं लगता की या Make Money की सबसे पोपुलर बुक है.
लेकिन इस किताब के making money के तरीकों को Robert Kiyosaki ने दिया है.

न देरी करते हुए आइये जानते हैं इस बुक में लिखे गए कुछ बेसिक कांसेप्ट क्या है समझाने की कोशिश करते हैं.

Robert Kiyosaki इस बुक का नाम Rich Dad Poor Dad इसलिए रखा की क्यूंकि उनका मानना है की उनके दो डैड हैं.

एक रोबर्ट के फाठेर जो की poor यानि गरीब थे और दुसरे उन्हें एक फ्रेंड के फाठेर जो की रिच यानि अमीर थे.

हम में से ज्यादातर लोग फाइनेंसियल नॉलेज कॉलेज या स्कूल से नहीं सीखते हैं, हम फाइनेंसियल नॉलेज उन लोगों से सीखते हैं जिनके पास पैसे नहीं होते हैं.

हमे पता है की जिनके पास पैसे नहीं होते हैं वो गरीब होते है और वो आपको ऐसी फाइनेंसियल एडवाइस देंगे जैसे की उन्होंने अपनी लाइफ में सब एक्सपीरियंस कर लिया है.

Rich Dad Poor Dad Book के ऑथर Kiyosaki के अनुसार,

व्यक्ति की आर्थिक स्थिति जैसी होती है, वो व्यक्ति वैसा ही फाइनेंसियल एडवाइस दूसरों को देता है. जैसे की

हम किसी ऐसे व्यक्ति की सलाह लेते हैं जिसकी सालाना इनकम 2,00000 रुपये है तो उसकी सलाह की वैल्यू भी इतनी ही होगी.

इसी तरह से यदि हम 5,00000 monthly इनकम करने वाले व्यक्ति से फाइनेंसियल एडवाइस लेते हैं तो उनकी सलाह उनके फाइनेंसियल स्टेटस की तरह ही होगी.

Robert Kiyosaki अपने बारे में कहते हैं की मैं बहुत लकी हूँ की मुझे दोनों तरह के व्यक्ति से सलाह लेने का अवसर मिला यानि poor और rich लोगों के सोचने और फाइनेंसियल एडवाइस के बारे में जानने मिला इसी विचार को Rich Dad Poor Dad Book में बताया है.

Rich और Poor व्यक्ति के पास क्या होता है

इस बुक का में आपको ये सबसे महत्वपूर्ण पॉइंट है की किस व्यक्ति के पास क्या सोर्स है पैसा को लेकर एक गरीब आदमी के पास और एक अमीर आदमी के पास.

रिच व्यक्ति के पास सम्पति (Assets) होती है यानि उनके पास ऐसे सोर्स होते हैं जो पैसे को आपनी तरफ लाते हैं.

गरीब व्यक्ति के पास दायित्व (Liabilities) होती हैं यानि ऐसे सोर्स जो की उनसे पैसे को दूर ले जाते हैं.

यदि हम इन दो सेंटेंस को अच्छी तरह से समझें तो

गरीब या मिडिल क्लास व्यक्ति जो की लिमिट इनकम सोर्स पर निर्भर रहते हैं और उनके पास खर्चे expenses ज्यादा होते हैं. बहुत से ऐसे व्यक्ति है जो जॉब करते हैं उन्हें Assets और Liabilities में अंतर पता नहीं होता है.

एक नौकरी करने वाला व्यक्ति यदि लोन पर एक कार खरीद ले तो उसे लगता है वह उसके लिए एसेट्स है. जबकि कार खरीदने के बाद उससे पैसे नहीं आते हैं उल्टा उसका एक्सपेंस खर्चा और बड जाता है जैसे EMI, Fuel खर्च, मेंटेनेंस खर्च insurance इत्यादि.

Rich Dad Poor Dad के राइटर का कहना है की हमें केवल एसेट्स में ही पैसे खर्च नहीं करने चाहिए. हमको अपने Liabilities को भी पूरा करना चाहिए.

हमारा कोशिश हमेशा ऐसा होना चाहिए की हम अपने Liabilities को कम से कम करें और अपने assets को ज्यादा से ज्यादा बढायें.

अपने Assets को बढाने के लिए जॉब करने वाले बन्दे ऑनलाइन फिल्ड में बहुत सारे काम हैं वो पार्ट टाइम के रूप में कर सकते हैं जैसे फ्रीलांसिंग, ब्लॉग्गिंग इत्यादी ये भी एक तरह के एसेट्स हैं.

पैसा कैसे काम करता है जानकारी लेते हैं

अमीर व्यक्ति पैसे के लिए काम नहीं करते अहिं उनका पैसा ही उनके लिए काम करता है. जस्ट इसका उल्टा poor पीपल पैसों के लिए काम करते हैं और इसके लिए वो अपने जॉब को ज्यादा वक्त देते हैं.

अमीर आदमी और ज्यादा अमीर होते जाते हैं क्योकि उन्हें मालूम है की पैसा कैसे काम करता है और वो पैसों से और ज्यादा पैसा बनाने का तरकीब लगाते हैं. जैसे शेयर मर्केट में इन्वेस्ट करना.

इसी तरह मिडिल क्लास के लोग पैसा को सेविंग करते अहिं और हमेशा पैसा कमाने के लिए काम करते हैं.

Rich Dad Poor Dad Hind में कैसे प्राप्त करें

Rich Dad Poor Dad बुक इंग्लिश भाषा में लिखी गयी है इस बुक को हिन्दी में मंजुल प्रकाशन द्वारा उपलब्ध कराया गया है.

इस बुक का हिन्दी अनुवाद डॉ. सुधीर दीक्षित द्वारा किया गया है. आप इस बुक को आसानी से अमेज़न ऑनलाइन स्टोर से प्राप्त कर सकते हैं.

आपको सिर्फ नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करना है और इस बुक को ऑडर करना है और अपने एड्रेस में मंगवा लेना है.


  • Share Market Books in Hindi PDF