Hello Meaning in Hindi

Hello Meaning in Hindi

Hello Meaning in Hindi: जब आप किसी व्यक्ति को पुकारते हैं या किसी से पहली बार मिलते हैं तो आप सबसे ज्यादा हेल्लो Hello वर्ड का इस्तेमाल करते हैं.

देखा जाए तो किसी भी व्यक्ति को पुकारने के लिए कई सारे शब्द मौजूद हैं जैसे हेय, श्रीमान, जनाब, सुनो, सुन, ओये इत्यादि लेकिन इन सबसे ज्यादा बोला जाने वाला पोपुलर word hello है.

हम सभी किसी व्यक्ति को पुकारने के लिए hello हेल्लो शब्द का यूज़ करते हैं. Hello word किसी समय किसी भी हालत में उपयोग कर सकते हैं यह Hello वर्ड हमारे माइड और जुबान में इस तरह रच बस गया है की किसी को फ़ोन करो तो Hello किसी का फ़ोन रिसीव करो तो भी Hello किसी को पुकारो तो Hello, किसी से मिलते हैं तो Hello यदि कोई रस्ते में दूर जाता हुआ दिखो तो जोर से Hello… कह के पुकारते हैं.

Hello Mening in Hindi – Meaning of Hello in Hindi

हेल्लो Hello शब्द के अर्थ की पूरी लिस्ट नीचे बिस्तृत रूप में दी गयी है इसे आप जानकारी ले सकते हैं की इस शब्द का वास्तविक अर्थ क्या है.

  • नमस्ते
  • हॉलू को देखें
  • हलो
  • हेलो
  • सुनिये
  • सुनिए
  • शुभकामना की अभिव्यक्ति
  • Hello (हेल्लो): सुनिए (suniye)

Hello Mening in English

अंग्रेजी में Hello वर्ड का अर्थ नीचे दिए गए लिस्ट में उपलब्ध कराये गए है जिन्हें पढ़ कर आप जान जायेंगे की असल में इंग्लिश में हेल्लो का अर्थ क्या है.

  • An Expession of greeting
  • See Helloo

Hello वर्ड की history – Hello शब्द की उत्पत्ति

दर्शल Hello वर्ड Hell और O से मिल के बना है, जैसा की आपको पता है की Hell का मतलब होता है नरक, जहनुम. Hell वर्ड Hello उस समय बना जब ब्रिटिश राज्य का पूरी दुनिया में बोलबाला था.

20 वीं शदी का यह वो शुरूआती समय था जब ब्रिटिश हुकूमत का सूरज कभी नहीं डूबता था भारत के जैसे ही कई देशो में ब्रिटिश हुकूमत ही छाया हुआ था. इन कब्जे देशों को संख्या इतनी ज्यादा थी की किसी एक ब्रिटिश राज्य वाले देशों में रात होती तो उससे पहले दुसरे किसी ब्रिटिश राज वाले देश में सुबह हो जाती. इसी लिए कहा जाता था की ब्रिटिश राज का सूरज कभी नहीं डूबता.

अपनी इन्हीं आवश्यकताओं और गुरुर में केवल अपने आप को ही सर्वश्रेष्ट मानते थे और उन देशों के लोगों को अपना गुलाम समझ ते थे. अपने गुरुर से उन लोगों को वो Hello करके पुकारते थे क्योंकि अंग्रेज उन गुलाम लोगो को तुच्छ मानते थे और उनका नाम अपने जुबान पर नहीं ला सकते थे.

Amitesh Raj

नमस्कार दोस्तों, मैं Mr. Amitesh Bedia, Hintwebs वेबसाइट का ओनर और ऑथर भी हूँ, मुझे किसी भी तरह की जानकारी साझा करना बहुत अच्छा लगता है, चाहे वो टेक्नोलॉजी से जुड़ी हो या नॉलेज की बातें या फिर इन्टरनेट से जुड़ी कोई बात हो सिखने और दूसरों को इसे जुड़ी समस्याओं को दूर करना ही मेरा लक्ष्य है.