G20 Kya Hai in Hindi

इस पोस्ट में हम आपको विस्तार से G20 मीट के बारे में पूरी जानकारी दे रहे हैं ताकि आप इसके बारे में पूरा जान पायें. हमने कोशिश की है आपके सारे सवालों का जवाब इस पोस्ट के माध्यम से मिल जाये.

G20 Kya Hai in Hindi

G20 Kya Hai in Hindi

निश्चित रूप से! G20, या ग्रुप ऑफ ट्वेंटी, 19 देशों और यूरोपीय संघ (EU) की सरकारों और केंद्रीय बैंक गवर्नरों के लिए एक अंतरराष्ट्रीय मंच है। 1999 में स्थापित, इसका उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय वित्तीय स्थिरता पर चर्चा करने और उसे बढ़ावा देने के लिए दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं को एक साथ लाना है।

G20 सदस्य देश

  • अर्जेंटीना
  • ऑस्ट्रेलिया
  • ब्राज़िल
  • कनाडा
  • चीन
  • फ्रांस
  • जर्मनी
  • भारत
  • इंडोनेशिया
  • इटली
  • जापान
  • मेक्सिको
  • रूस
  • सऊदी अरब
  • दक्षिण अफ्रीका
  • दक्षिण कोरिया
  • टर्की
  • यूनाइटेड किंगडम
  • संयुक्त राज्य अमेरिका
  • यूरोपीय संघ

पृष्ठभूमि और महत्व:

G20 की शुरुआत 1990 के दशक के उत्तरार्ध के वित्तीय संकटों के जवाब में की गई थी, जिसका उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय आर्थिक मुद्दों पर चर्चा करने के लिए दुनिया की सबसे महत्वपूर्ण औद्योगिक और विकासशील अर्थव्यवस्थाओं को एक साथ लाना था। इसकी कल्पना G7/G8 की तुलना में अधिक समावेशी निकाय के रूप में की गई थी, जिसमें केवल सबसे उन्नत अर्थव्यवस्थाएं शामिल हैं।

पिछले कुछ वर्षों में, G20 के एजेंडे में वित्तीय और आर्थिक नीति से परे जलवायु परिवर्तन, वैश्विक स्वास्थ्य मुद्दे और आतंकवाद-निरोध जैसे मुद्दों को शामिल करने का विस्तार हुआ है।

बैठकें:

G20 की बैठकें पूरे वर्ष नियमित आधार पर विभिन्न स्तरों पर होती रहती हैं। सबसे प्रमुख है नेताओं का शिखर सम्मेलन, जहां सदस्य देशों के राष्ट्राध्यक्ष या शासनाध्यक्ष एकत्रित होते हैं। वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंक के गवर्नरों की बैठकों के साथ-साथ अन्य मंत्रिस्तरीय बैठकें और वरिष्ठ अधिकारियों के बीच चर्चाएं भी होती हैं।

ये बैठकें प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं के बीच सीधे संवाद के अवसर प्रदान करती हैं, और उनके सामूहिक निर्णय और बयान वैश्विक आर्थिक नीतियों और परिणामों पर महत्वपूर्ण प्रभाव डाल सकते हैं।

G20 की अध्यक्षता प्रतिवर्ष इसके सदस्यों के बीच बदलती रहती है, और प्रत्येक अध्यक्षता का समापन G20 शिखर सम्मेलन में होता है जहाँ नेता व्यापक वैश्विक मुद्दों पर चर्चा करते हैं।

आलोचक और सीमाएँ:

कई अंतरराष्ट्रीय मंचों की तरह जी20 के भी अपने आलोचक हैं। कुछ लोगों का तर्क है कि इसकी सदस्यता पर्याप्त रूप से समावेशी नहीं है, क्योंकि कई छोटे देशों का प्रतिनिधित्व नहीं है। दूसरों का तर्क है कि हालांकि जी20 व्यापक आर्थिक नीतियों के समन्वय में प्रभावी है, लेकिन यह विशिष्ट कार्यों या सुधारों को लागू करने में कम प्रभावी है। हालाँकि, G20 वैश्विक आर्थिक संवाद और निर्णय लेने के लिए एक महत्वपूर्ण स्थल बना हुआ है।

G20 के बारे में कुछ मुख्य तथ्य

फाउंडेशन: G20 की स्थापना 1999 में हुई थी, मूल रूप से 1990 के दशक के वित्तीय संकटों के जवाब में वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंक गवर्नरों की एक बैठक के रूप में।

विस्तार: 2008 में, वैश्विक वित्तीय संकट के जवाब में जी20 को नेताओं के स्तर की बैठक में शामिल किया गया, जिससे वैश्विक आर्थिक मुद्दों पर अधिक व्यापक चर्चा की अनुमति मिली।

सदस्यता: G20 में 19 व्यक्तिगत देश और यूरोपीय संघ शामिल हैं। कुल मिलाकर, ये अर्थव्यवस्थाएँ वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का लगभग 85% और अंतर्राष्ट्रीय व्यापार का 75% प्रतिनिधित्व करती हैं।

घूर्णनशील अध्यक्षता: G20 एक घूर्णनशील अध्यक्षता प्रणाली पर कार्य करता है, जिसमें प्रत्येक वर्ष एक अलग सदस्य देश नेतृत्व करता है। यह देश उस वर्ष के लिए एजेंडा तय करने और जी20 नेताओं के शिखर सम्मेलन की मेजबानी के लिए जिम्मेदार है।

वार्षिक शिखर सम्मेलन: G20 नेताओं का शिखर सम्मेलन G20 कैलेंडर का मुख्य कार्यक्रम है। यह आमतौर पर पतझड़ में होता है, और यहीं पर सदस्य देशों के नेता अंतरराष्ट्रीय चुनौतियों पर चर्चा करने और वैश्विक नीति के समन्वय के लिए मिलते हैं।

व्यापक एजेंडा: हालाँकि G20 शुरू में आर्थिक और वित्तीय मुद्दों पर केंद्रित था, लेकिन पिछले कुछ वर्षों में इसका एजेंडा जलवायु परिवर्तन, विकास, भ्रष्टाचार-विरोधी और अन्य जैसे विषयों को शामिल करने के लिए विस्तारित हुआ है।

ट्रोइका प्रणाली: G20 एक “ट्रोइका” प्रणाली पर काम करता है, जो वर्तमान राष्ट्रपति पद, पिछले राष्ट्रपति पद और अगले राष्ट्रपति पद से बनी है। इससे समूह के एजेंडे में निरंतरता सुनिश्चित करने में मदद मिलती है।

आउटरीच समूह: G20 में कई संबद्ध आउटरीच समूह हैं जो समाज के विभिन्न क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करते हैं। इनमें B20 (व्यवसाय), C20 (सिविल सोसायटी), L20 (श्रम), T20 (थिंक टैंक), W20 (महिला) और Y20 (युवा) शामिल हैं।

आलोचना: G20 को विभिन्न कारणों से आलोचना का सामना करना पड़ा है। कुछ लोगों का तर्क है कि इसमें पारदर्शिता और समावेशिता का अभाव है, यह देखते हुए कि कई छोटी अर्थव्यवस्थाओं का प्रतिनिधित्व नहीं है। दूसरों को लगता है कि यह कुछ वैश्विक चुनौतियों से निपटने में अपर्याप्त रूप से सक्रिय या प्रभावी रहा है।

वैश्विक नीति पर प्रभाव: G20 बैठकों के दौरान लिए गए निर्णय वैश्विक नीतियों पर महत्वपूर्ण प्रभाव डाल सकते हैं। उदाहरण के लिए, G20 ने 2008 के वित्तीय संकट की प्रतिक्रिया, समन्वित प्रोत्साहन उपायों को लागू करने और अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संस्थानों में सुधार करने में केंद्रीय भूमिका निभाई।

g20 me kitne desh hai?

G20 में 19 अलग-अलग देश और यूरोपीय संघ शामिल हैं। तो, जबकि G20 में 20 सदस्य हैं, उनमें से 19 संप्रभु राष्ट्र हैं।

G20 का उद्देश्य क्या है?

G20, या ग्रुप ऑफ ट्वेंटी, 19 देशों और यूरोपीय संघ की सरकारों और केंद्रीय बैंक गवर्नरों के लिए एक अंतरराष्ट्रीय मंच है। इसका मुख्य उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय वित्तीय स्थिरता पर चर्चा करने और उसे बढ़ावा देने के लिए दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं को एक साथ लाना है। जी20 उन मुद्दों को संबोधित करता है जो किसी एक संगठन की जिम्मेदारियों से परे जाकर वैश्विक चुनौतियों के लिए समन्वित प्रतिक्रिया की मांग करते हैं।

G20 का मुख्यालय कहाँ है?

G20 का अन्य अंतर्राष्ट्रीय संगठनों की तरह कोई निश्चित मुख्यालय नहीं है। इसके बजाय, इसकी बैठकें सदस्य देशों के बीच घूमती रहती हैं, और जो राष्ट्र वार्षिक शिखर सम्मेलन की मेजबानी करता है, वह उस वर्ष के लिए अध्यक्षता रखता है।

g20 ki sthapna kab hui?

G20 की स्थापना 1990 के दशक के उत्तरार्ध के वित्तीय संकटों के जवाब में 1999 में की गई थी, जिसका उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय वित्तीय स्थिरता पर चर्चा करने और बढ़ावा देने के लिए दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं को एक साथ लाना था।

g20 full form

G20 का पूर्ण रूप “ग्रुप ऑफ ट्वेंटी” है। “Group of twenty”

g20 countries list

G20 में 19 देश और यूरोपीय संघ शामिल हैं। ये देश हैं: अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, मैक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, तुर्की, यूनाइटेड किंगडम और संयुक्त राज्य अमेरिका।

Poster on g20

Poster on g20

slogan on g20

“एक पृथ्वी, एक परिवार, एक भविष्य” One Earth, One Family, One Future

g20 logo

g20 rangoli

g20 rangoli

g20 rangoli

g20 rangoli

Paragraph on g20

G20, जिसका अर्थ “ग्रुप ऑफ ट्वेंटी” है, दुनिया की विकसित और विकासशील दोनों सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के अभिसरण का प्रतिनिधित्व करता है। 1999 में बनाया गया, इसका उद्देश्य वैश्विक आर्थिक चुनौतियों का समाधान करना, वित्तीय स्थिरता सुनिश्चित करना और सतत विकास को बढ़ावा देना है। 19 व्यक्तिगत देशों और यूरोपीय संघ को शामिल करते हुए, G20 की बैठकें महत्वपूर्ण वैश्विक मुद्दों पर अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के लिए एक मंच के रूप में कार्य करती हैं। इसकी बदलती अध्यक्षता और वार्षिक शिखर सम्मेलन संवाद और नीति समन्वय को बढ़ावा देते हैं, जिससे G20 वैश्विक आर्थिक प्रशासन में एक केंद्रीय स्तंभ बन जाता है।

Bina ATM Card Ke UPI Pin Kaise Banaye
Hitachi Launched India’s First UPI ATM
UPI 123Pay Payment Kaise Kare
Bina Internet Ke UPI Payment Kaise Kare
Credit Card Ko Bhim UPI App me Kaise Link Kare
12 Digit UPI Reference Number Tracking
How To Know Mobile Call History
PhonePe Limit Per Day
e-RUPI क्या है
Myntra Affiliate Program
Cred App Consumer Complaints
Google Pay Limit Per Day for UPI Transactions