FD का फुल फॉर्म क्या है? | FD Full Form

FD Full Form: भारत में, FD पैसे बचाने के सबसे लोकप्रिय तरीकों में से एक है. यह एक बिलकुल सुरक्षित निवेश हैं, अच्छे रिटर्न की पेशकश करते हैं और FD अकाउंट खोलने में आसान होते हैं.

FD Full Form

एक FD जमा में, आप अपने बैंक में एक निश्चित अवधि के लिए पहले से निर्धारित ब्याज दर पर एकमुश्त राशि डालते हैं. इस निवेश का समय पूरा हो जाने पर, आपको वह राशि प्राप्त होती है जो आपने निवेश की है और साथ ही चक्रवृद्धि ब्याज भी मिलता है. आपको बता दें की FD को टर्म डिपॉजिट भी कहा जाता है.

FD का फुल फॉर्म क्या है? | FD Full Form

इस पोस्ट में हम बैंकिंग सेक्टर से जुड़ा शोर्ट फॉर्म FD के बारे में बात कर रहे हैं. बैंकिंग भाषा की बात करें तो FD का फुल फॉर्म Fixed Deposit होता है.

Fixed Deposit को शोर्ट फॉर्म में FD कहा जाता है. यह एक पैसा invest करने का बहुत पारंपरिक तरीका है जो कोई भी बैंक अपने ग्राहकों को सामान्य बचत खाते की तुलना में अधिक ब्याज दर प्रदान करता है.

ग्राहक को एफडी के माध्यम से एक विशेष तारीख तक अपना पैसा जमा करना होता है जिसे मैच्योरिटी तिथि कहा जाता है. फिक्स्ड डिपाजिट करने के लिए अलग खाता बनाना अनिवार्य नहीं है. ग्राहक इस विकल्प का लाभ उठाने के लिए अपने मौजूदा खातों का उपयोग कर सकते हैं.

FD को हिन्दी में क्या कहते हैं?

जैसा की ऊपर हमने बताया FD को इंग्लिश में Fixed Deposit कहते हैं. ठीक उसी तरह FD को हिन्दी में सावधि जमा कहा जाता है.

भारत और अन्य देश में FD को क्या कहा जाता है?

कनाडा, न्यूजीलैंड, संयुक्त राज्य अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और भारत के देश भी इसे फिक्स्ड डिपाजिट के रूप में जानते हैं. यूके देश भी इसे ‘बॉन्ड’ कहता है.

FD और बाकी बैंकिंग सर्विस में क्या अंतर है?

एक Fixed Deposit एक Recurring Deposit और एक Demand Deposit से अलग है जिसमें सावधि जमा का पैसा उसकी परिपक्वता तिथि प्राप्त होने से पहले एफडी खाते से नहीं निकाला जा सकता है, लेकिन आवर्ती जमा और मांग जमा के मामले में ऐसा नहीं है.

FD का Interest Rate और अवधि क्या है?

FD खाते की ब्याज दर समय-समय पर 4% से 7.50% के बीच बदलती रहती है. इसी तरह, फिक्स्ड डिपाजिट की अवधि भी सात, पंद्रह, या पैंतालीस दिनों से लेकर डेढ़ साल या दस साल तक होती है.

FD निवेश को सुरक्षित क्यूँ माना जाता है?

एफडी निवेश पीओ योजनाओं की तुलना में अधिक सुरक्षित हैं. ऐसा इसलिए है क्योंकि ये योजनाएं डीआईसीजीसी (जमा बीमा और क्रेडिट गारंटी निगम) द्वारा कवर की जाती हैं. डीआईसीजीसी $6850 (लगभग)/जमाकर्ता/बैंक तक की राशि की गारंटी देता है और कुछ कर लाभ (जैसे आयकर और संपत्ति कर) भी प्रदान करता है.

FD के फायदे क्या हैं?

  • किसी को एक सुनिश्चित रिटर्न मिलेगा और राशि बाजार के किसी भी उतार-चढ़ाव से प्रभावित नहीं होगी
  • मूल राशि के नुकसान का कम/कोई जोखिम नहीं
  • सावधि जमा को आसानी से नवीनीकृत किया जा सकता है और यहां तक कि किसी की जमा राशि को नवीनीकृत करने पर अतिरिक्त दर लाभ भी प्राप्त किया जा सकता है
  • किसी के मासिक खर्चों के प्रबंधन के लिए आवधिक ब्याज भुगतान का विकल्प चुना जा सकता है

FD की कुछ मुख्य विशेषताएं

  • NBFC बैंकों द्वारा दी जाने वाली FD की तुलना में अधिक FD ब्याज़ दरों की पेशकश करते हैं
  • यदि किसी का टैक्स उसकी कुल आय से नहीं काटा जाता है, तो 15G/15H फॉर्म (सामान्य व्यक्तियों के लिए 15G और वरिष्ठ नागरिकों के लिए 15H) जमा करके TDS से बचा जा सकता है.
  • जो वरिष्ठ नागरिक हैं उन्हें अन्य नागरिकों की तुलना में अधिक ब्याज दर प्राप्त करने की सुविधा है.
ICICI Full Form
Bajaj Finance Loan Details Check
Amazon Easy Store Registration Kaise Kare
India Post Payment Bank AePS Charges
Post Office NEFT/RTGS Transfer Charges, Limits
HDFC Bank Account Mein Signature Kaise Change Kare
UPI Lite App Download and Features
UPI 123Pay Payment Kaise Kare
7th Pay Commission Pay Scale Chart
Bina Internet Ke UPI Payment Kaise Kare
How To Know Mobile Call History
PhonePe Limit Per Day
e-RUPI क्या है
Myntra Affiliate Program
Cred App Consumer Complaints
Google Pay Limit Per Day for UPI Transactions
Amitesh Raj

नमस्कार दोस्तों, मैं Mr. Amitesh Bedia, Hintwebs वेबसाइट का ओनर और ऑथर भी हूँ, मुझे किसी भी तरह की जानकारी साझा करना बहुत अच्छा लगता है, चाहे वो टेक्नोलॉजी से जुड़ी हो या नॉलेज की बातें या फिर इन्टरनेट से जुड़ी कोई बात हो सिखने और दूसरों को इसे जुड़ी समस्याओं को दूर करना ही मेरा लक्ष्य है.