बिटकॉइन ETF का भविष्य: ब्लैकरॉक का IBIT ग्रेस्केल को कैसे पछाड़ रहा है?

जेपी मॉर्गन ने हाल ही में 2023 की पहली तिमाही के लिए 13F फाइलिंग्स के आधार पर स्पॉट बिटकॉइन ETFs की स्वामित्व संरचना पर एक विश्लेषण प्रस्तुत किया जिसमें यह खुलासा हुआ कि संस्थागत स्वामित्व लगभग 13% है।

बिटकॉइन ETF का भविष्य: ब्लैकरॉक का IBIT ग्रेस्केल को कैसे पछाड़ रहा है? BlackRock's Rise in the World of Spot Bitcoin ETFs: A Detailed Analysis

यह अनुमान तब 20% तक पहुँच जाता है जब इसमें वे संस्थागत निवेशक शामिल किए जाते हैं, जिन्हें फाइनल करने की आवश्यकता नहीं होती जैसे कि छोटे प्रबंधक और कुछ निवेश सलाहकार। इससे खुदरा निवेशकों का हिस्सा लगभग 80% हो जाता है जो इंगित करता है कि अधिकांश नए स्पॉट बिटकॉइन ETFs उनकी शुरुआत से ही खुदरा निवेशकों द्वारा खरीदे गए हैं।

हेज फंड्स संस्थागत स्वामित्व में सबसे बड़ी हिस्सेदारी रखते हैं जो कि लगभग 8% है। नए स्पॉट बिटकॉइन ETFs में से, ब्लॉक रॉक (NYSE:BLK) के IBIT ने कई कारणों से विशेषता प्राप्त की है।

पहला कारण यह अपनी शुरुआत के बाद से अधिकांश पूंजी प्रवाह प्राप्त कर चुका है जो कि उच्च शुल्क वाली ग्रेस्केल बिटकॉइन ट्रस्ट से पूंजी को आकर्षित कर रहा है। दूसरा IBIT ग्रेस्केल बिटकॉइन ट्रस्ट को पीछे छोड़ते हुए दुनिया का सबसे बड़ा बिटकॉइन फंड बनने की कगार पर है। तीसरा यह बाजार में सबसे अधिक तरल स्पॉट बिटकॉइन ईटीएफ बन गया है।

IBIT की तरलता का मूल्यांकन दो मुख्य मेट्रिक्स के आधार पर किया जाता है। पहला मैट्रिक हुई-ह्युबेल अनुपात है, जो कि बाजार की चौड़ाई या मात्रा की प्रति कीमतों की संवेदनशीलता को मापता है। काम हुई-ह्युबेल अनुपात यह दर्शाता है कि बाजार की चौड़ाई अधिक है और ब्लैकरॉक के ईटीएफ का यह अनुपात है ग्रेस्केल के GBTC की तुलना में लगभग तीन से चार गुना कम है।

दूसरा मैट्रिक नेट एसेट वैल्यू (NAV) से ईटीएफ की समापन कीमतों के औसत विचलन को देखा जाता है। कम विचलन से उच्च तरलता का पता चलता है और ब्लैकरॉक का स्पॉट बिटकॉइन ईटीएफ ने हाल ही में ग्रेस्केल के GBTC और फिडेलिटी के FBTC की तुलना में काफी कम ETF मूल्य दिखाया है। जिससे इसकी अधिक तरलता की पुष्टि होती है।

इस विश्लेषण के अनुसार ब्लैक रॉक का IBIT को पछाड़ते हुए बाजार में सबसे अधिक तरल स्पॉट बिटकॉइन ईटीएफ के रूप में स्थापित हो चुका है जो भविष्य में इसे संस्थागत और खुदरा निवेशकों के लिए और भी आकर्षक बना सकता है।